100+ Bhole baba shayari best for kawad yatara | भोले बाबा शायरी

Bhole baba shayari- आप इस पोस्ट में भगवान शिव जी के ऊपर भोले बाबा शायरी पढ़ पाएंगे. हमने इस पोस्ट में शिव जी शायरी का कलेक्शन शेयर किया है जो कि काफी भक्ति से लीन होगा आप इन अंसारी का उपयोग अपने शिवजी के प्रति भक्ति दिखाने के लिए व्हाट्सएप पर स्टेटस या व्हाट्सएप स्टोरियां सोशल मीडिया पर शेयर कर सकते हैं. सावन का महीना आ चुका है और शिव जी के भक्त शिव जी की आराधना में लग चुके हैं. शिव जी के दर्शन करने के लिए लोग काफी दूर-दूर तक शिवजी के मंदिर दर्शन करने जाते हैं और सोमवारी का व्रत रखते हैं ताकि शिवजी उन्हें अच्छे जीवन खुशी भरा प्रदान करें.

Bhole baba shayari

भोले बाबा शायरी

बाबा मुझे अपनी भक्ति के नशे में चूर रखना
मतलब की इस दुनिया से कोशो दूर रखना..!!

बाबा की महीना तो देखो कितनी पावन है
इस बार पूरा 2 महीने का सावन है..!!

फुर्सत मिले तो इनके चरणों में आकर बैठो
क्योंकि यही हमारी सभी
उलझनो के जवाब हैं..!!

चलना भी है भागना भी है,
महादेव को पाने के लिये
सोते हुए जागना भी है…
जय महाकाल… हर हर महादेव…

ना गिनकर देता है, ना तोलकर देता है,
जब भी मेरा महाकाल देता है, दिल खोल कर देता है..! हर हर महादेव…

गरज उठे गगन सारा, समंदर छोड़े अपना किनारा,
हिल जाये जहान सारा, जब गूंजे महाकाल का नारा। हर हर महादेव

जब ज़माना मुश्किल में दाल देता हैं,
तब मेरे भोले हज़ारों रास्ते निकाल देता हैं।

नाच रहे ड़मरू की ताल पर शिवशंम्भु,
त्रिशुलधारी गंगाधर बाबा महाकाल सर्वेशु।

बाबा महाकाल के भक्त हैं, हर हाल में मस्त हैं
जिंदगी एक धुँआ हैं, इसलिए हम चिलम मैं मस्त हैं।

राम उसका रावण भी उसका, जीवन उसका मरण भी उसका,
ताण्डव हैं और ध्यान भी वो हैं, अज्ञानी का ज्ञान भी वो हैं।

गरज उठे गगन सारा, समंदर छोड़े अपना किनारा, हिल जाये जहान सारा, जब गूंजे महाकाल का नारा..!!

Bhole baba shayari in hindi

वह अकेले ही पुरी दुनिया में मुर्दे कि भस्म से नहाते हैं, ऐसे ही नहीं वो कालो के काल महाकाल कहलाते हैं..!!

क्या करूँगा मैं अमीर बन कर, मेरा ‪महाकाल तो ‪फकीर‬ का दीवाना है..!!

वह अकेले ही पुरी दुनिया में मुर्दे कि भस्म से नहाते हैं, ऐसे ही नहीं वो कालो के काल महाकाल कहलाते हैं..!!

झुकता नही शिव भक्त किसी के आगे, वो काल भी क्या करेगा महाकाल के आगे..!!

ना मैं उच नीच में रहूँ ना ही जात पात में रहूँ, महाकाल आप मेरे दिल में रहे, और मैं औक़ात में रहूँ..!!

नाच रहे ड़मरू की ताल पर शिवशंम्भु, त्रिशुलधारी गंगाधर बाबा महाकाल सर्वेशु..!!

आग लगे उस जवानी कों, ज़िसमे भोलेनाथ नाम की दिवानगी न हो..!!

हम भोलेनाथ नाम की शमा के छोटे से परवाने है, कहने वाले कुछ भी कहे हम तो #भोलेबाबा के दिवाने है..!

गरज उठे गगन सारा समुन्दर छोड़ें अपना किनारा, हिल जाए जहान सारा जब गूंजे महादेव का नारा..!

अकाल मौत वो मरे, जो काम करे चंडाल का..! काल भी उसका क्या बिगाड़े, जो भकत हो #महाकाल का..!

दुःख की घड़ी उसे डरा नही सकती, कोई ताकत उसे हरा नही सकती, और जिस पर हो जाये तेरी मेहर मेरे #महादेव‬ फिर ये ‪दुनिया‬ उसे मिटा नही सकती..!

मै योग निद्रां मे शम्भु हु….. निद्रां के बहार शंकर….. और जाग गया तो रुद्र हु..!

दुनिया पर किया गया भरोसा टूट सकता है,
पर ब्रह्मांड के स्वामी भोलेनाथ पर किया
भरोसा कभी नही टूटता…
ॐ नम शिवाय: जय शिव, जय महाकाल !!

कहाँ से लाऊं वो शंख जो
भोले को सुनाई दे,
सुबह सवेरे लोग निहारे अपनी सूरत
मुझे तो बस महादेव ही दिखाई दे !!

कहाँ से लाऊं वो शंख जो
भोले को सुनाई दे,
सुबह सवेरे लोग निहारे अपनी सूरत
मुझे तो बस महादेव ही दिखाई दे !!

शिव भुल जाए मेरी तकलीफ कोई गम नही
तुम्हारी श्रद्धा की मेरी पहचान है,
इसके बिना दुनिया में मेरी कोई ओकात नही !!

डर तो उन्हें लगेगा जिसकी नियति में दाग है,
हम तो भक्त है भोले के
हमारे उर में तो आग है !!
जय शिव जय महाकाल !!

भोलेनाथ मुझ पर इतनी दया करना ,
अपनी भक्ति से भगवान मेरा हृदय सदा भरना ,
भोलेनाथ अपनी इस दासी पर इतनी कृपा करना ,
माथे का चंदन नहीँ चरणोँ की धूल बना लेना ।
हर-हर महादेव ।

जहाँ में लोग तो लड़कियों पे फ़िदा होते है
हम तो पागल आशिक है भोलेनाथ के
क्या करे पैसेवाले बनके हम
हमारा महाकाल तो फकीरों का दीवाना है !!

भोलेनाथ शायरी हिंदी

आसमां को जमी से मिला कर रख दूंगा, भक्ति तेरी ऐसी करूंगा भोले, मैं सबको हिला कर रख दूंगा।

मौत की गोद में सो रहे हैं
धुंए में हम खो रहे है
महाकाल की भक्ति है सबसे ऊपर
शिव शिव जपते जाग रहे है, सो रहे हैं!

कुछ दिल से छूने वाले लफ्जो में, मैं अपना प्यार लिख दूंगा दो लाईनो की शायरी क्या भोले, मैं तुझपर पूरा अखबार लिख दुगा।

मेरी ज़िन्दगी में इसलिए ही खुशियों का सवेरा है, बढ़ गए लोग मुझे चाहने वाले पर मेरा दिल भोले आज भी तेरा है।

महाकाल जिसका नाम है
त्रिनेत्र, त्रिशूल और डमरू
जिसकी पहचान है
इतने प्यारे मेरे भोलेनाथ है

जमाना खिलाफ है होने दो
मुझे कोई डर नही
जब भोलेनाथ मेरे साथ है

इस जहा में उसके कई नाम है
कही शिव शम्भू कही महाकाल
कही भूतनाथ तो कही भोलेनाथ है

Read more-  बोल बम शायरी

भांग धतूरा खा के मेरे भोलेनाथ
कैलाश पर्वत पर विराजमान है
बड़े दयालु है बाबा मेरे
करते सबका उद्धार है

महादेव की भक्ति में
झूम रहे सारे भक्त
डम डम डमरू की धुन में
रहते है सब मस्त

भोले के भक्तों की नगरी है साहेब यहाँ
सवेरे गुड मॉर्निंग से नहीं हर हर महादेव
से होता है हर हर महादेव।

सोमवार का सवेरा है चलो शुभ
शुरुवात करते है हर हर महादेव
बोलके फिर आगे बात करते हैं।

Bholenath shayari hindi

हाथों की लकीरें अधूरी हो तो किस्मत
अच्छी नहीं होती,हम कहते हैं की सर
पर हाथ महादेव का हो तो लकीरों
की ज़रूरत नहीं होती।

दुनिया बहुत बुरी है मेरे महादेव सुना है
कैलाश पर्वत पर सुकून मिलता है।

हमारा कोई क्या बुरा करेगा जनाब हम घर
से माँ की दुआ और महादेव का आशीर्वाद
लेकर निकलते है।

कैसे कह दूँ कि मेरी हर दुआ बेअसर
हो गई मैं जब जब भी रोया मेरे भोलेनाथ
को खबर हो गई,हर हर महादेव.

चीज़ें बदलती है लोग बदलते है लेकिन
मेरे महादेव हमेशा मेरे साथ बने रहते है।

सपने पुरे हो या ना हों हासिल कुछ हो न
हो लेकिन उम्मीदें और हौसले आपसे ही
जुड़े है महादेव।

जो करते हैं दुनिया पे भरोसा वो चिंता
में होते हैं, जो करते हैं, महाकाल पर
भरोसा वो चैन की नींद सोते हैं।.

महादेव शायरी हिंदी

ना हूनर मेरे पास है ना किस्मत मेरे पास
है रहती हूँ बेफिक्र मेरे महादेव मेरे साथ है।

तू भस्म का श्रृंगार है मेरा पहला
और आखिरी प्यार है सबके लिये
तो देव है तु पर मेरे लिये संसार है
जय श्री महाकाल..

महादेव आपके क़दमों की में धूल हूँ
आपके होने से ही में मशहूर हूँ।
हर हर महादेव।

भोले के दरबार में, दुनिया बदल जाती है,
रहमत से हाथ की, लकीर बदल जाती है,
लेता है जो भी दिल से महादेव का नाम,
एक पल में उसकी तकदीर बदल जाती है.

Read more-कावड़ यात्रा शायरी

दिन सोमवार बड़ा ही प्यारा है
हरे हुए इंसान का महादेव ही
सहारा है। हर हर महादेव।

शिव की बनी रहे आप पर छाया,
पलट दे जो आपकी किस्मत की
काया,मिले आपको वो सब अपनी
ज़िन्दगी में जो कभी किसी ने भी
न पाया।

कोई देव कहे कोई महादेव कहे भोले
बाबा में तुम्हे अपनी जान कहता हूँ।

महादेव तुम से छुप जाए मेरी तकलीफ
ऐसी कोई बात नही तेरी भक्ती से ही
पहचान है मेरी वरना मेरी कोई ओकात
नही।

भोले के अलावा ना कोई आस है और
ना ही कोई मेरे पास है,भोले की भक्ति
में मगन रहता हूं इसीलिए मेरी लाइफ
बिंदास है। जय भोले.

बात तुम्हारी हो या हमारी शुरुवात
तो हर हर महादेव से ही होगी।

कुछ ऐसा करदिजिये महादेव आपसे
कभी दूर न हो पाऊं भटक भी जाऊ
तोह सीधा आपके दर आऊं।

ना महीनों की गिनती, ना सालों का
हिसाब हैं,मोहब्बत आज भी महादेव
से बेइंतहा बेहिसाब हैं। हर हर महादेव.

शिव की बनी रहे आप पर छाया
पलट दे जो आपकी किस्मत की काया
मिले आपको वो सब इस अपनी ज़िन्दगी में
जो कभी किसी ने भी ना पाया।

मैंने तेरा नाम ले लेकर ही सारे काम किए हैं,
लोग समझते हैं कि मैं किस्मत वाला हूं।
जय भोलेनाथ

भोले हैं सबका दाता भोले ही भाग्यविधाता,
जब कोई काम नहीं आता तो शंभू साथ निभाता।
हर-हर महादेव

विश्व का कण कण शिव मय हो
अब हर शक्ति का अवतार उठे
जल थल और अम्बर से फिर
बम बम भोले की जय जयकार उठे।

मर-मर के तू लाख जन्म ले ले,
हाथ में तेरे राख भी ना आयेगा।
आरंभ तेरा तुझसे है,
अंत में तू महाकाल के पास जायेगा।

Mahadev shayari in hindi

दिल मेरा महादेव से ही भर गया,
अब ये किसी पर फ़िदा नहीं होता.
हर हर महादेव.

जिनके रोम रोम में शिव हैं
वही विष पिया करते हैं
जमाना उन्हे क्या जलाएगा
जो श्रृंगार ही अंगार से किया करते हैं।
जय भोलेनाथ, शिव शम्भू

शव हूँ मैं भी शिव बिना,
शव में शिव का वास,
शिव मेरे आराध्य हैं,
मैं हूँ शिव का दास।

यह कैसी घटा छाई हैं
हवा में नई सुर्खी आई है
फ़ैली है जो सुगंध हवा में
जरुर महादेव ने चिलम लगाई है।

ना जीने की खुशी,
ना मौत का गम,
जब तक हैं दम,
महादेव के भक्त रहेंगे हम।

मुझमें कोई छल नहीं, तेरा कोई कल नहीं
मौत के ही गर्भ में, ज़िंदगी के पास हूँ
अंधकार का आकार हूँ, प्रकाश का मैं प्रकार हूँ।
मैं शिव हूँ। मैं शिव हूँ। मैं शिव हूँ।

इस मौसम में ठंड उनको लगेगी,
जिनके कर्मों में दाग है।
हम तो महाकाल के भक्त हैं,
भैया हमारे तो मुंह में भी आग है।
जय भोलेनाथ

शिव की ज्योति से नूर मिलता है
सबके दिलो को सुरूर मिलता हैं
जो भी जाता है भोले के द्वार
कुछ न कुछ ज़रूर मिलता हैं।

ना पूछो मुझसे मेरी पहचान,
मैं तो भस्मधारी हूँ,
भस्म से होता जिनका श्रृंगार,
मैं उस भोलेनाथ का पुजारी हूँ।

जिंदगी जीना आसान नहीं होता,
बिना कर्मों के कोई महान नहीं होता!
जब तक न पड़े हथौड़े की चोट,
पत्थर भी भगवान नहीं होता।
जय भोलेनाथ

कोई दौलत का दीवाना,
कोई शोहरत का दीवाना,
शीशे सा मेरा दिल,
मैं तो सिर्फ महादेव का दीवाना।

सारा जहाँ है जिसकी शरण में
नमन है उस शिव जी के चरण में
बने उस शिवजी के चरणों की धुल
आओ मिल कर चढ़ाये हम श्रद्धा के फूल।

बाबा ने जिस पर भी डाली छाया
उसकी किस्मत की पलट गई काया
वो सब मिला उसे बिन मांगे ही
जो कभी किसी ने ना पाया।

सागर मथ के सभी देवता अमृत पर ललचाए,
तुम अभ्यंकर विष को पीकर नीलकंठ कहलाए।
जय भोलेनाथ

बहुत ही खूबसूरत है मेरे ख्यालों की दुनिया,
मेरे महादेव से शुरू और मेरे महादेव पर ही जाकर खत्म हो जाती है।
जय शिव शंकर

शिव की महिमा अपरम्पार
शिव करते सबका उद्धार
उनकी कृपा आप पर सदा बनी रहे और
भोले शंकर आपके जीवन में खुशियाँ ही खुशियाँ भर दे।

क्या है हमारी औकात हमने बतलाना छोड़ दिया,
भोलेनाथ जब से हम डूबे तेरी दीवानगी में
तो मौत ने भी हम से टकराना छोड़ दिया।
जय भोलेनाथ

जब ज़माना मुश्किल में डाल देता हैं,
तब मेरे भोले हज़ारों रास्ते निकाल देता हैं।

कर्ता करे न कर सके
शिव करे सो होये
तीन लोक नो खंड में
शिव से बड़ा ना कोय।

शिव के चरणों में है मिलते
सारे तीरथ चारों धाम
करनी का सुख तेरे हाथों
शिव के हाथों में परिणाम।

बाबा महाकाल के भक्त हैं,
हर हाल में मस्त हैं
जिंदगी एक धुँआ हैं,
इसलिए हम चिलम मैं मस्त हैं।

मेरे जिस्म जान में ‪‎भोलेनाथ‬ नाम तुम्हारा है
आज अगर मैं खुश हूँ तो यह एहसान भी तुम्हारा है
थामा हुआ है हाथ मेरा आपने मुझको मालूम है
मेरे हर पल हर लम्हे में मेरे भोलेनाथ प्यार तुम्हारा है।

बहुत तकलीफ में उठाई है
फिर भी मुझे कोई ऐतबार नहीं,
क्योंकि इतनी आसानी से मिल जाए,
ऐसा मेरे महाकाल का दरबार नही।
जय महाकाल

जो दिख रहा है वो शव है
ओर जो देख रहा है शिव है
शव होने से पहले शिव को पहचान
वरना आखिरी मंजिल शमशान।

शिव सत्य है शिव अनंत है
शिव अनादि है शिव भगवंत है
शिव ओंकार है शिव ब्रह्म है
शिव शक्ति है शिव भक्ति है।

हर ओर शिवम सत्यम सुन्दरम हर दिशा में हर हर है! जड़ चेतन में अभिव्यक्त सतत कण कण में शिव संकर हैं।

अगर तू धुप में है तो महादेव जरूर तेरा छाया बनेंगे, सच्चे दिल में रख महादेव को, वो तेरे सारे कस्ट का सफाया करेंगे।

जन्म जन्म तेरे ही गुण गऊ तेरी भक्ति से अपना जीवन सफल बनाऊ, कर दे ये उपकार महादेव बस  भक्ति करता जाऊं ।

यह तेरा करम था कि
तूने मुझे अपना दीवाना बना दिया,
मैं खुद से था पराया
तूने अपना बना लिया।

जब पड़ी हो आप पर भोले की छाया
चुटकी में बदल दे जो आपकी काया
मिलेगा जीवन में वो सब
जो कभीं किसी ने न पाया।

भक्ति मिली है महादेव की बड़े पुण्यों के बाद, छू लूंगा महादेव को भी शमशान में भस्म बनाने के बाद।

ना जीने की खुशी, ना मौत का गम,
जब तक हैं दम, महादेव के भक्त रहेंगे हम।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *