35+ Mahadev shayari in hindi | महादेव शायरी

Har har mahadev shayari-Mahadev shayari in hindi 2 line इस पोस्ट के माध्यम से हम महादेव के भक्तों के लिए महादेव शायरी हिंदी में शेयर कर रहे हैं. इसे पढ़कर हर कोई अपने प्रोफाइल से चलकर एटीट्यूड महादेव शायरी लगा सकता है. इस पोस्ट में आपको हर हर महादेव शायरी बेहतरीन से बेहतरीन पढ़ने के लिए मिल जाएंगे, तो अपने मनपसंद शायरी को सेलेक्ट करके उन्हें कॉपी करके अपने अनुसार यूज़ करें.

Mahadev shayari

महादेव शायरी हिंदी में

हालात चाहे कितने भी खराब क्यों ना हो
दिल से निभाने वाले निभा ही जाते हैं..!!

हर दिन हर पल तुम्हारी ही आराधना करते हैं
आपको भी पता है बाबा
हम आप पर कितना मरते हैं..!!

कट जाएंगे सारे संकट इनकी शरण में
बैठ कर तो देखो मेरे
महादेव के श्री चरणों में..!!

बजते हैं डमरू
भस्म से होता हैं शृंगार
इतने अद्भुत ढंग से
सजते हैं महादेव मेरे।

है मेरे भोलेनाथ ,,,
सुख देना तो इतना देना की मन में “अहंकार ” न आये
और दुःख देना तो बस इतना देना की “आस्था ” न चली जाये।

खौफ फैला देना मेरे नाम का,
कोई पूछे तो कह देना
भक्त लौट आया हैं महाकाल का।

तुझे पाने का मैं सोमवार क्या ?
प्रतिदिन की उपवास रखु !!
सब भूल जाऊ सब त्याग करू
तेरे नाम जपु , तुझे याद करू।

आँख बंद करके मैं इजहार करता हु
ए महाकाल
मैं आपसे हद से ज्यादा
प्यार करता हु।

धन दौलत को चाहने वाला बिखर जाता है,
और मेरे महादेव को चाहने वाला निखर जाता है !
हर हर महादेव की !

माया को चाहने वाला बिखर जाता है,
लेकिन महाकाल को चाहने वाला निखर जाता है !!

ना जीने की खुशी न मौत का गम,
जब तक है दम महादेव के भक्त रहेंगे हम !
हर हर महादेव !

न पूछो मुझसे मेरी पहचान मैं तो भस्मधारी हूँ,
भस्म से होता जिनका श्रृंगार,
मैं उस भोलेनाथ का पुजारी हूँ !

हम दुनिया से अलग नहीं,
हमारी दुनिया ही अलग है..!! जय श्री महादेव

”महादेव” मैनें तेरा नाम लेके ही सारे काम किये है,
और लोग समजतें है की बन्दा किस्मत वाला है ।

लोग पूछते हैं कौन-सी दुनिया में जीते हो !
हमने भी कह दिया महाकाल कि भक्ति में,
दुनिया कहा नजर आती है !

अगर भोलेनाथ से मोहब्बत करना सजा है,
तो ऐसी सजा मुझे हर बार मंजूर है,
जय भोलेनाथ !

पानी उसी को अच्छा लगता है जिसे प्यास हो,
महादेव उसी की सुजते हैं
जिन्हे उन पर अटूट विश्वास हो।

बाबा महाकाल के भक्त हैं हर हाल में मस्त हैं,
जिंदगी एक धुँआ है इसलिए हम चिलम मैं मस्त हैं !

इस मौसम में ठंड उनको लगेगी,
जिनके कर्मों में दाग है,
हम तो महाकाल के भक्त हैं,
भैया हमारे तो मुंह में भी आग है !
जय भोलेनाथ की !

कण कण में भोलेनाथ आपका ही वास है,
हर भक्त के लिए आप और,
हर भक्त आपके लिए खास है !
जय भोले बाबा !

तेरा भक्त तो भोले मौज करता है।
क्योकी तेरे नाम का सुमिरन रोज करता है।

ही शौक रखते है पर बैमिसाल रखते है,
हालात कैसे भी हो
फिर भी जुबां पर हमेशा “जय महाकाल” रखते है

बिगड़ा नसीब भी संवर जाता है,
बंद किस्मत का ताला खुल जाता है
अँधेरो में भी खुला दरवाजा नजर आता है,
जो सर महादेव के चरणों में झुक जाता है

विश्व का कण कण शिव मय हो
अब हर शक्ति का अवतार उठे
जल थल और अम्बर से फिर
बम बम भोले की जय जयकार उठे

मैंने तेरा नाम लेके ही सारे काम किये है महादेव,
और लोग समझते है कि बंदा बहुत किस्मत वाला है

लोग पूछते हैं – “कौन-सी दुनिया में जीते हो ?”
हमने भी कह दिया – “महाकाल कि भक्ति में दुनिया कहा नज़र आती है ?

भोलेनाथ, तुम्हारे रूप में
बसते हैं चारो धाम,
तुम ही हो उज्जैन की सुबह
तुम ही हो काशी की शाम।

भस्म को ललाट पे लगाया करते हैं, गले में मूँड माला,
साँपों का डेरा सजाया करते है, हम भक्त है उनके जो ताण्डव मचाया करते है

झुकता नही शिव भक्त किसी के आगे,
वो काल भी क्या करेगा महाकाल के आगे।

दुनिया के बदलते रंग देखता हूँ पर,
सिर्फ आपको महादेव हर पल अपने संग देखता हूँ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *