भरोसा तोड़ने वाली शायरी | Bharosa Todne Wali Shayari

भरोसा तोड़ने वाली शायरी-भरोसा पर यह दुनिया टिकी हुई है लेकिन हमें आस-पास हर कोई भरोसा तोड़ने वाले ही मिलते हैं .इस सिचुएशन को दर्शाने के लिए हमने इस पोस्ट में भरोसा तोड़ने वाली शायरी शेयर किए हैं. जिसमें आपको एक पर एक भरोसा शायरी भरोसा तोड़ने वाली शायरी भरोसा पर शायरी विश्वासघात लोग पर शायरी पढ़ेंगे.

आसपास के लोग रहते हैं उनसे हमें चौकन्ना रहना चाहिए क्योंकि का मतलब पूरा हो जाएगा फिर वह अपने फायदे का चीज होता आपको कभी भी धोखा दे सकते हैं. जैसे कि रिश्ते में भरोसा का टूटना दोस्तों के साथ भरोसा टूटना प्यार में भरोसा ने पर शायरी विश्वासघात शायरी धोखेबाज लोग पर शायरी या फिर गद्दार लोग पर शायरी यह पोस्ट सभी लोग पर डेडीकेट किया गया है. हमें इन सब लोगों से बच के रहना चाहिए और आप यह भरोसा तोड़ने वाली शायरी स्टेटस या स्टोरी पर लगा कर उनको जला सकते हैं.

Bharosa Todne Wali Shayari

भरोसा तोड़ने वाली शायरी 2023

हम खुद से दोस्ती करने में भरोसा करते हैं
लोगों का क्या पता कब साथ छोड़ जाए..!!

फिक्र मत कर बंदे भरोसा तुम पर अपार है
लिखने वाले ने लिख दिया तकदीर तेरे साथ है..!!

इंसान बदल जाए इस बात का कोई भरोसा नही,
जिस पर विश्वास होता है तोड़ते है भरोसा वही।

गलती की हमने उस पर भरोसा किया,
उसी ने हमारे साथ धोखा किया।

सब पर भरोसा है,
पर कुछ नहीं हासिल है,
जिस तरफ पीठ करो,
वहीं खड़ा कातिल है।

आजकल न जाने कब बदल जाए इंसान भरोसा नहीं,
कहते हैं जो भरोसा करो हम पर,
अक्सर भरोसा तोड़ते हैं वहीं।

लोगो के पास बहुत कुछ हैं,
मगर मुश्किल यही है कि,
भरोसे पर शक हैं और
अपने शक पे भरोसा हैं!!

आप जिसपर आँखें बंद करके भरोसा करते है,
अक्सर आपकी आंखें वही खोलता है!!

मैंने एक इंसान पे भरोसा किया,
जिसने मुझे ये सबक दिया की,
अब किसीपे भरोसा मत करना!!

भरोसा कोई एक तोड़ता है,
नफरत सबसे होने लगती है!!

चेहरे की सादगी बताती है,
दिल नहीं भरोसा टूटा है!!

भरोसा शायरी स्टेटस

भरोसा तो अपनी सांसों का भी नहीं,
और हम इंसान पर कर बैठते हैं!!

क्यों भरोसा करता है तू गैरो पर,
जब चलना है खुद के ही पैरों पर!!

जिसका कोई नहीं,
जो किसी का नहीं,
उसपे भरोसा नहीं!!

दिल का क्या है,
आज टुटा है कल जुड़ जाएगा,
फिक्र तो मुझे भरोसे का है,
उसे कैसे जोड़ा जाए!!

अगर इस दुनिया की सबसे गलत…
कोई चीज हो सकती है न,
तो वो किसी का भरोसा तोड़ना ही है!!!

आज खुद से एक वादा ऐसा भी करना पड़ा,
खुल कर रोना चाहा, मगर मुस्कुराना पड़ा!!

आज खुद से एक वादा ऐसा भी करना पड़ा,
खुल कर रोना चाहा, मगर मुस्कुराना पड़ा!!

मेने भी कोशिश की थी रोने की,
फिर उन्ही कोशिशों पर हसी आ गई!!

भरोसा पर शायरी

हमने उस भरोसा कर बोला यह,
तुम किसी से कहना मत,
उसने बड़ी समझदारी से दस लोगो को बता…
उनसे कह दिया… तुम किसी से कहना मत!!!

भरोसा क्या करना गैरो पर,
जब खुद गिरना है चलना है
अपने ही पैरो पर।

दोहरे चेहरे लिए, दिल सबके काले है,
यहां सिर्फ दूसरो की भावनाओ से खेलने वाले है,
दूसरो की भावनाओ से खेलने वाले है!!!

बहुत कच्चे थे तेरे विश्वास के धागे
जो हमारे रिश्ते को बुन ना सके
भरोसा किया तुम पर पर
तुम उसे निभा ना सके.!!

प्यार के बिना खोकला हर रिश्ता
प्यार ही तो है जिससे
कोई बेगाना भी हो जाता है अपना..!

सच्ची मोहब्बत भी हम करते है,
वफ़ा भी हम करते है,भरोसा भी
हम करते है,और आखिर में तन्हा
जीने की सजा भी हमे ही मिलती है..

जैसे भी जी रहे है अपने हाल पर
भरोसा करेगे सिर्फ अपने
महबूब के प्यार पर..!

भरोसा” शब्द जिसका प्रतीक सिर्फ माँ,
बाप से है, इस मतलब की दुनिया में
भरोसा की चाह में किसी पर भरोसा
नहीं कर सकते ।।

बाते मोहब्बत की कभी हम
भी किया करते थे बहुत पहले
ही सही लेकिन लोगो पर भरोसा
हम भी किया करते थे।

दिल का दर्द एक राज बनकर रह गया,
मेरा भरोसा मजाक बनकर रह गया,
दिल के सोदागरो से दिललगी कर बैठे,
शायद इसीलिए मेरा प्यार इक अल्फाज
बनकर रह गया।

भरोसा लफ्जो का छोटा सा है
मगर यकीन दिलाने मे पूरी
जिंदगी निकल जाती है !

भरोसा धोखा शायरी

बड़े नादान हैं वो लोग जो इस दौर,
मैं भी वफ़ा की उम्मीद करते हैं,
यहाँ तो दुआ क़बूल ना होने पर लोग,
भगवान बदल दिया करते हैं।।

हम अपने उभरते जज़्बात बयां करने में मशरूफ थे..!!
और वो हमारी पुरानी गलतियां गिनाने में..!!
नतीजा ये हुआ कि हम अपनी बात समझा-समझा कर थक गए..!!
और वो किसी पर भी भरोसा न होने का बहाना कर के निकल गए..!!

भरोसा” शब्द जिसका प्रतीक सिर्फ माँ, बाप से है!…
इस मतलब की दुनिया में भरोसा की चाह में
किसी पर भरोसा नहीं कर सकते ।।

लोगों के पास बहुत कुछ है,
मगर मुश्किल यही है कि,
भरोसे पे शक है और,
अपने शक पे भरोसा है।।

नशीब से ज्यादा भरोषा तुम पर किया,
फिर भी नशीब इतना नही बदला जितना तुम बदल गए।।

भरोसा जितना कीमती होता है,
धोखा उतना ही महँगा हो जाता है।।

बड़े नादान हैं वो लोग जो इस दौर,
मैं भी वफ़ा की उम्मीद करते हैं,
यहाँ तो दुआ क़बूल ना होने पर लोग,
भगवान बदल दिया करते हैं।।

दिल की सरहद को
तुम ​पार ना करना
मेरे भरोसे और विश्वास
को तुम बेकार न करना !

विश्वास जीतना बड़ी बात नहीं है,
विश्वास बनाए रखना बड़ी बात है !

भरोसा एक ऐसी चीज है,
जिसके टूटने पर कोई आवाज तो नहीं आती,
लेकिन उसकी गूंज जीवन भर सुनाई देती है !

जब अपना दिल ख़ुद ले डूबे औरों पे सहारा कौन करे,
कश्ती पे भरोसा जब न रहा तिनकों पे भरोसा कौन करे !

दिल तोड़ना हमारी आदत नहीं,
दिल हम किसी का दुखाते नहीं,
भरोसा रखना मेरी वफ़ाओ पर
दिल में बसा कर हम किसी को भुलाते नहीं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *